1. Home
  2. हिंदी
  3. राजनीति
  4. बिहार : मंत्रियों के विभागों का बंटवारा, तेजस्वी इस बार संभालेंगे स्वास्थ्य, तेज प्रताप वन एवं पर्यावरण मंत्री
बिहार : मंत्रियों के विभागों का बंटवारा, तेजस्वी इस बार संभालेंगे स्वास्थ्य, तेज प्रताप वन एवं पर्यावरण मंत्री

बिहार : मंत्रियों के विभागों का बंटवारा, तेजस्वी इस बार संभालेंगे स्वास्थ्य, तेज प्रताप वन एवं पर्यावरण मंत्री

0

पटना, 16 अगस्त। बिहार में पिछले हफ्ते गठित महागठबंधन की नई सरकार के मुखिया नीतीश कुमार ने मंगलवार को न सिर्फ अपनी कैबिनेट का पहला विस्तार करते हुए 31 नये मंत्रियों को शामिल किया वरन उनके मंत्रालयों व विभागों का बंटवारा भी कर दिया।

इस बार तेज प्रताप को पर्यावरण एवं वन मंत्रालय

सीएम नीतीश कुमार ने अपने पास गृह मंत्रालय कुछ अन्य विभाग रखे हैं वहीं डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव को स्वास्थ्य मंत्रालय दिया गया है। यही वो मंत्रालय है, जो पिछली बार महागठबंधन की सरकार में तेजस्वी के भाई तेज प्रताप के पास था। इस बार तेज प्रताप को पर्यावरण एवं वन मंत्रालय दिया गया है.

पिछली बार तेजस्वी यादव के पास पथ निर्माण, भवन निर्माण, पिछड़ा वर्ग एवं अति पिछड़ा वर्ग कल्याण मंत्रालय की ज़िम्मेदारी थी जबकि तेजप्रताप यादव को स्वास्थ्य, लघु जल-संसाधन और पर्यावरण एवं वन विभाग का मंत्री बनाया गया था। फिलहाल तेजस्वी के पास इस बार पिछले मंत्रालयों के साथ स्वास्थ्य मंत्रालय की भी जिम्मेदारी होगी।

उल्लेखनीय है कि मंत्रालयों के बंटवारे के पहले महागठबंधन के 31 विधायकों को मंत्रिपद की शपथ दिलाई गई। कैबिनेट में सबसे ज्यादा 16 मंत्रिपद राजद के खाते में गए हैं वहीं, जदयू के 11 विधायकों को मंत्री बनाया गया है जबकि कांग्रेस के दो, ‘हम’ के एक और एक निर्दलीय विधायक को मंत्रिपद की शपथ दिलाई गई।

मंत्रियों के विभागों की सूची

  • नीतीश कुमार (मुख्यमंत्री) – सामान्य प्रशासन, गृह, मंत्रिमंडल सचिवालय, निगरानी, निर्वाचन।
  • तेजस्वी प्रसाद यादव (उप मुख्यमंत्री) – स्वास्थ्य, पथ निर्माण, नगर विकास एवं आवास, ग्रामीण कार्य।
  • विजय कुमार चौधरी – वित्त, वाणिज्य कर, संसदीय कार्य।
  • बिजेंद्र प्रसाद यादव – ऊर्जा, योजना एवं विकास।
  • आलोक कुमार मेहता – राजस्व एवं भूमि सुधार।
  • तेज प्रताप यादव – पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन।
  • आफाक आलम – पशु एवं मत्स्य संसाधन।
  • अशोक चौधरी – भवन निर्माण।
  • श्रवण कुमार – ग्रामीण विकास।
  • सुरेंद्र प्रसाद यादव – सहकारिता।
  • रामानन्द यादव – खान एवं भूतत्व।
  • लेशी सिंह – खाद्य एवं उपभोक्ता संरक्षण।
  • मदन सहनी – समाज कल्याण।
  • कुमार सर्वजीत – पर्यटन।
  • ललित कुमार यादव – लोक स्वास्थ्य अभियंत्रण।
  • संतोष कुमार सुमन – अनुसूचित जाति/जनजाति कल्याण।
  • संजय कुमार झा – जल संसाधन, सूचना एवं जन संपर्क।
  • शीला कुमारी – परिवहन।
  • समीर कुमार महासेठ – उद्योग।
  • चंद्रशेखर – शिक्षा।
  • सुमित कुमार सिंह – विज्ञान एवं प्रावैधिकी।
  • सुनील कुमार – मद्य निषेध, उत्पाद एवं निबंधन।
  • अनिता देवी – पिछड़ा वर्ण एवं अतिपिछड़ा वर्ग कल्याण।
  • जितेंद्र कुमार राय – कला, संस्कृति एवं युवा।
  • जयन्त राज – लघु जल संसाधन।
  • सुधाकर सिंह – कृषि।
  • मोहम्मद जमा खान – अल्पसंख्यक कल्याण।
  • मुरारी प्रसाद गौतम – पंचायती राज।
  • कार्तिक कुमार – विधि।
  • शमीम अहमद – गन्ना उद्योग।
  • शाहनवाज – आपदा प्रबंधन।
  • सुरेंद्र राम – श्रम संसाधन।
  • मोहम्मद इसराईल मंसूरी – सूचना प्रौद्योगिकी।

नीतीश कैबिनेट में सभी वर्गों का रखा गया ध्यान

वैसे देखा जाए तो मंत्रिमंडल विस्तार में जातीय और क्षेत्रीय समीकरण का खास ध्यान रखा गया है। जातीय समीकरण के साथ-साथ 2024 के लोकसभा और 2025 के विधानसभा चुनाव का खास ख्याल रखा गया है पिछड़े और अतिपिछड़े समुदाय से सबसे ज्यादा 17 मंत्री बनाए गए हैं। इतना ही नहीं दलित और मुस्लिम समुदाय से पांच-पांच नेताओं को कैबिनेट में शामिल किया गया तो सवर्ण जातियों से छह मंत्री बनाए गए हैं।

यादव समुदाय से सबसे ज्यादा मंत्री

नीतीश कैबिनेट का जातीय आधार पर विश्लेषण करें तो सबसे ज्यादा आठ यादव समुदाय से मंत्री बने हैं। इनमें जेडीयू कोटे से एक बिजेंद्र प्रसाद यादव मंत्री हैं तो आरजेडी से सात यादव मंत्री बनाए गए हैं। इनमें डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव, तेज प्रताप यादव, सुरेंद्र यादव, डॉ. रामानंद यादव, चंद्रशेखर यादव, ललित यादव और जितेंद्र राय शामिल हैं।

 

LEAVE YOUR COMMENT

Your email address will not be published.