1. Home
  2. हिंदी
  3. राष्ट्रीय
  4. जम्मू-कश्मीर में फिर टारगेट किलिंग : आतंकियों ने शोपियां में नाम पूछकर दो कश्मीरी पंडित भाइयों पर फायरिंग की, एक की मौत
जम्मू-कश्मीर में फिर टारगेट किलिंग : आतंकियों ने शोपियां में नाम पूछकर दो कश्मीरी पंडित भाइयों पर फायरिंग की, एक की मौत

जम्मू-कश्मीर में फिर टारगेट किलिंग : आतंकियों ने शोपियां में नाम पूछकर दो कश्मीरी पंडित भाइयों पर फायरिंग की, एक की मौत

0

शोपियां, 16 अगस्त। आतंकवादियों ने जम्मू-कश्मीर में एक बार फिर कश्मीरी पंडितों को टारगेट किया और मंगलवार को दक्षिण कश्मीर के शोपियां में दो कश्मीरी पंडित भाइयों से उनका नाम पूछने के बाद उनपर अंधाधुंध गोलियां बरसा दीं। सेब के बाग में हुई इस फायरिंग में सुनील कुमार भट्ट की मौत हो गई जबकि उनके भाई गंभीर परतिंबर नाथ रूप से घायल हो गए। उन्हें अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती कराया गया है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार सुनील भट्ट औऱ उनके भाई परतिंबर शोपियां के छोटेपोरा इलाके में अपने सेब के बागान में जा रहे थे। इसी दौरान आतंकियों ने उनसे नाम पूछा और फिर फायरिंग झोंक दिया।

उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने कहा – आतंकियों को बख्शा नहीं जाएगा

जम्मू कश्मीर के उपराज्यपाल  मनोज सिन्हा ने कहा कि जिम्मेदार आतंकियों को बख्शा नहीं जाएगा। साथ ही उन्होंने इस आतंकी हमले की कड़ी निंदा की और कहा कि आतंकयों को चुन-चुनकर ढेर किया जाएगा।

रवींद्र रैना बोले – यह पाकिस्तानी आतंकियों की कायराना हरकत

उधर, जम्मू-कश्मीर के भाजपा अध्यक्ष रवींद्र रैना ने इस हमले की निंदा करते हुए कहा कि यह पाकिस्तानी आतंकियों की कायराना हरकत है। दोषियों को जल्द ही सजा दी जाएगी। भाजपा नेता निर्मल सिंह ने कहा कि कश्मीर में एक बार फिर से आतंकियों ने कायराना हरकत की है। सुनील कुमार अपना काम कर रहा था, लेकिन आतंकियों ने ये हरकत की। फिलहाल आतंकवादी कितनी भी कोशिश कर लें, वह अपने मंसूबों में कभी भी कामयाब नहीं होंगे।

महबूबा मुफ्ती ने व्यक्त की संवेदनाएं

राज्य की पूर्व सीएम व पीडीपी प्रमुख महबूबा मुफ्ती ने भी इस टारगेट किलिंग को लेकर कहा, ‘शोपियां में हुई घटना के बारे में सुनकर बहुत दुख हुआ। मृतक के परिवार के प्रति संवेदना।’ उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार के फैसलों की वजह से जम्मू-कश्मीर का हर निवासी परेशानी झेल रहा है।

ओवैसी ने साधा एलजी पर निशाना

वहीं एआईएमआईएम चीफ असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि जम्मू-कश्मीर में उप राज्यपाल मनोज सिन्हा पूरी तरह फेल रहे हैं। उन्होंने कहा कि सुरक्षा का हवाला देकर अनुच्छेद 370 को हटाया गया था। लेकिन घाटी में कश्मीरी पंडित असुरक्षित हैं।

LEAVE YOUR COMMENT

Your email address will not be published.