1. Home
  2. कारोबार
  3. अमूल और मदर डेयरी ने फिर बढ़ाए दूध के दाम, 2 रुपये प्रति लीटर की हुई बढ़ोतरी
अमूल और मदर डेयरी ने फिर बढ़ाए दूध के दाम, 2 रुपये प्रति लीटर की हुई बढ़ोतरी

अमूल और मदर डेयरी ने फिर बढ़ाए दूध के दाम, 2 रुपये प्रति लीटर की हुई बढ़ोतरी

0

अहमदाबाद, 16 अगस्त। लगातार बढ़ रही महंगाई के बीच देश की सबसे बड़ी दूध देयरी अमूल और उसके साथ मदर डेयरी ने एक बार फिर दूध के दाम बढ़ोतरी कर दी है। दोनों ब्रांड के दूध की कीमतों में 2 रुपये प्रति लीटर की वृद्धि की गई है। बढ़ी हुई कीमतें देशभर में 17 अगस्त से लागू हो जाएंगी।

मार्च, 2022 में दोनों कम्पनियों ने बढ़ाए थे दाम

अमूल ने इससे पहले गत एक मार्च को भी दूध की कीमत में 2 रुपये प्रति लीटर की बढ़ोतरी की थी वहीं मदर डेयरी ने छह मार्च को दूध की कीमतों में दो रुपये लीटर का इजाफा किया था।

गुजरात कोऑपरेटिव मिल्क मार्केटिंग फेडरेशन (जीसीएमएमएफ) ने अमूल ब्रांड नाम के तहत दूध और दूध उत्पादों का विपणन, अहमदाबाद और गुजरात के सौराष्ट्र, दिल्ली एनसीआर, डब्ल्यूबी, मुंबई और अन्य सभी बाजारों में दूध की कीमतों में 2 रुपये/लीटर की वृद्धि की है।

अमूल ब्रांड के दूध की नई कीमतें

अमूल ब्रांड के नए रेट्स के मुताबिक 17 अगस्त से अमूल गोल्ड के आधा लीटर (500 एमएल) पैक की नई कीमत अब 31 रुपये हो जाएगी जबकि 500 एमएल अमूल ताजा की नई कीमत 25 रुपये हो जाएगी। इसके अलावा अमूल शक्ति दूध के आधा लीटर पैक की नई कीमत 28 रुपये हो जाएगी।

मदर डेयरी के दूध के नए भाव

उधर मदर डेयरी ने 17 अगस्त से अपने तरल दूध की कीमतों में 2 रुपये प्रति लीटर की बढ़ोतरी की है। मदर डेयरी का फुल क्रीम दूध 61 रुपये लीटर पर ग्राहकों के लिए उपलब्ध होगा। टोंड दूध 51 रुपये प्रति लीटर मिलेगा जबकि काऊ मिल्क 53 रुपये प्रति लीटर मिलेगा।

परिचालन लागत व उत्पादन लागत में वृद्धि के चलते दूध की कीमत बढ़ानी पड़ी

अमूल कम्पनी का कहना है कि परिचालन लागत और दूध की उत्पादन लागत में वृद्धि के चलते यह फैसला किया गया है। कम्पनी ने गत मार्च में भी दूध की कीमत बढ़ाने के पीछे पेट्रोल-डीजल की बढ़ती महंगाई का हवाला दिया था।

जीसीएमएमएफ ने एक बयान में बताया कि पिछले साल की तुलना में अकेले पशु आहार की लागत बढ़कर लगभग 20 प्रतिशत हो गई है। कम्पनी ने कहा, ‘लागत में वृद्धि को ध्यान में रखते हुए, हमारे सदस्य संघों ने भी पिछले वर्ष की तुलना में किसानों की कीमतों में 8-9 प्रतिशत की वृद्धि की है।’ कम्पनी के अनुसार दो रुपये लीटर पर हुई बढ़ोतरी एमआरपी में चार फीसदी में तब्दील जाती है। यह औसत महंगाई दर से कम है।

सरकार ने पिछले माह दूध के प्रोडक्ट पर 5 फीसदी जीएसटी लगाया था

गौरतलब है कि केंद्र सरकार ने पिछले महीने से दूध के प्रोडक्ट पर पांच फीसदी जीएसटी लगा दिया है। इस वजह से दही-लस्सी कीमतों में पहले ही बढ़ोतरी हो चुकी है। अब बढ़ी हुई दूध की कीमतें आम लोगों की जेब पर बोझ बढ़ाएंगी।

LEAVE YOUR COMMENT

Your email address will not be published.