1. Home
  2. हिंदी
  3. खेल
  4. भारतीय महिलाओं ने कम्पाउंड तीरंदाजी में रचा इतिहास, विश्व कप में लगाई स्वर्ण पदकों की हैट-ट्रिक
भारतीय महिलाओं ने कम्पाउंड तीरंदाजी में रचा इतिहास, विश्व कप में लगाई स्वर्ण पदकों की हैट-ट्रिक

भारतीय महिलाओं ने कम्पाउंड तीरंदाजी में रचा इतिहास, विश्व कप में लगाई स्वर्ण पदकों की हैट-ट्रिक

0
Social Share

अंताल्या (तुर्की), 22 जून। ज्योति सुरेखा वेन्नम, अदिति स्वामी और परनीत कौर की भारतीय महिला कम्पाउंड तीरंदाजी टीम ने नए इतिहास का सृजन किया और इस सत्र में अपना शानदार प्रदर्शन जारी रखते हुए शनिवार को यहां तीसरे चरण में एस्टोनिया पर जीत से विश्व कप में स्वर्ण पदकों की हैट-ट्रिक पूरी कर ली।

पुरुष कम्पाउंड तीरंदाज प्रियांश को रजत से संतोष करना पड़ा

हालांकि पुरुष व्यक्तिगत वर्ग में देश के उभरते कम्पाउंड तीरंदाज प्रियांश को रजत पदक से संतोष करना पड़ा। उन्हें फाइनल में दुनिया के नंबर एक खिलाड़ी माइक श्लोएसर के हाथों मामूली अंतर से हार का सामना करना पड़ा।

सुरेखा, अदिति व परनीत ने एस्टोनियाई को शिकस्त दी

शीर्ष वरीयता प्राप्त भारतीय तिकड़ी ने एकतरफा फाइनल में एस्टोनिया की लिसेल जाटमा, मीरी मैरिटा पास और मैरिस टेट्समैन को 232-229 से हराया। भारतीय टीम ने अप्रैल में शंघाई और और मई में येचियोन में क्रमशः विश्व कप के पहले और दूसरे चरण के स्वर्ण पदक भी जीते थे। स्टेज 3 में भारतीय टीम को केवल 10 देशों वाले क्षेत्र में पहले दौर में बाई मिली। उसने अल सल्वाडोर को 235-227 और मेजबान तुर्की को 234-227 से हराकर फाइनल में प्रवेश किया था।

प्रियांश डच हैवीवेट श्लोएसर को हराने में विफल रहे

उधर पुरुष कम्पाउंड फाइनल में 21 वर्ष प्रियांश इस सीजन में दूसरी बार डच हैवीवेट श्लोएसर को हराने में विफल रहे। फाइनल में प्रवेश करने के लिए शानदार निशानेबाजी करने वाले प्रियांश ने शुरुआती सेट में एक अंक गंवा दिया और वह घाटे को पूरा नहीं कर पाए, क्योंकि श्लोएसर ने लगातार 10 शॉट लगाकर मैच 149-148 से अपने नाम कर लिया।

सेमीफाइनल में प्रियांश ने सभी 15 तीर परफेक्ट-10 रिंग में लगाए और दुनिया के दूसरे नंबर के खिलाड़ी मैथियास फुलर्टन को एक अंक से हराया था। इस तरह उन्होंने पिछले विश्व कप में अपनी हार का हिसाब चुकाया।

प्रियांश ने इस सत्र में दूसरा विश्व कप रजत जीता

पिछले महीने येचियन में स्टेज 2 विश्व कप में, डेनिश तीरंदाज ने प्री-क्वार्टर में एक कड़े शूट-ऑफ में प्रियांश को बाहर कर दिया था। प्रियांश के लिए यह दूसरा विश्व कप रजत पदक था। इस साल अप्रैल में शंघाई में सीजन के पहले विश्व कप में प्रियांश फाइनल में ऑस्ट्रिया के विश्व नंबर 8 निको वीनर से 147-150 से हार गए थे।

रविवार को रिकर्व फाइनल में भारत तीन पदकों पर निशाना साधेगा

इस बीच रविवार को रिकर्व फाइनल में भारत तीन पदकों पर निशाना साधेगा। अंकिता भक्त और धीरज बोम्मादेवरा दो पदकों की दौड़ में हैं, जो अपने-अपने व्यक्तिगत सेमीफाइनल में पहुंच गए हैं। धीरज और भजन की मिश्रित टीम कांस्य प्लेऑफ में अपने मैक्सिको प्रतिद्वंद्वियों से भिड़ेगी।

LEAVE YOUR COMMENT

Your email address will not be published.

Join our WhatsApp Channel

And stay informed with the latest news and updates.

Join Now
revoi whats app qr code