1. Home
  2. हिंदी
  3. खेल
  4. टीम इंडिया की युवा ब्रिगेड का जिम्बाब्वे के समक्ष समर्पण, पहले टी20 मुकाबले में 13 रनों से परास्त
टीम इंडिया की युवा ब्रिगेड का जिम्बाब्वे के समक्ष समर्पण, पहले टी20 मुकाबले में 13 रनों से परास्त

टीम इंडिया की युवा ब्रिगेड का जिम्बाब्वे के समक्ष समर्पण, पहले टी20 मुकाबले में 13 रनों से परास्त

0
Social Share

हरारे, 6 जुलाई। ICC टी20 विश्व कप में मिली ऐतिहासिक सफलता के बाद जारी जश्न के बीच टीम इंडिया को आज गहरा आघात सहना पड़ा, जब शुभमन गिल की अगुआई में उतरी युवा ब्रिगेड यहां जिम्बाब्वे के खिलाफ पहले टी20 अंतरराष्ट्रीय मैच में समर्पण कर बैठी। आईसीसी टी20 रैंकिंग में 12वें नंबर की जिम्बाब्वे टीम ने अंतिम ओवर तक खिंची कम स्कोर वाली कश्मकश में शीर्ष पोजीशन पर काबिज भारत को 13 रनों से हराया और पांच मैचों की सीरीज में 1-0 की बढ़त हासिल कर ली।

रवि बिश्नोई एंड कम्पनी ने जिम्बाब्वे को 115 पर रोका था

हरारे स्पोर्ट्स क्लब ग्राउंड पर पहले बल्लेबाजी के लिए बाध्य सिकंदर रजा की अगुआई वाली मेजबान टीम करिअर बेस्ट प्रदर्शन करने वाले गुगली विशेषज्ञ रवि बिश्नोई (4-13) व उनके साथी गेंदबाजों के समक्ष नौ विकेट पर 115 रनों तक ही जा सकी थी।

सिकंदर रजा व चतरा के सामने 102 पर बिखरी टीम इंडिया

लेकिन भारतीय टीम वह लक्ष्य भी नहीं पा सकी और ‘प्लेयर ऑफ द मैच’ सिकंदर रजा (3-25) व टेंडई चतरा (3-16) ने मेजबानों को 19.5 ओवरों में 102 रनों पर ही रोकने के साथ खचाखच भरे स्टेडियम में उमड़े घरेलू समर्थकों को खुशियों से भर दिया। कप्तान शुभमन गिल (31 रन, 29 गेंद, पांच चौके) भारत के सर्वोच्च स्कोरर रहे और उनके अलावा वाशिंगटन सुंदर (27 रन, 24 गेंद, एक छक्का, एक चौका) व आवेश खान (16 रन, 12 गेंद, तीन चौके) ही दहाई में पहुंच सके।

वर्ष 2024 में भारत की पहली पराजय

रिकॉर्ड की बात करें तो वर्ष 2024 में भारत को टी20 अंतरराष्ट्रीय मुकाबलो में पहली पराजय का सामना करना पड़ा। वहीं टी20 अंतरराष्ट्रीय में भारत के खिलाफ न्यूनतम स्कोर का सफलतापूर्वक बचाव किया गया जबकि हरारे ग्राउंड पर भी किसी टीम के खिलाफ न्यूनतम स्कोर का बचाव करते हुए विपक्षी दल ने जीत हासिल की।

स्कोर कार्ड

दरअसल, ब्रिजटाउन में पिछले सप्ताहांत टी20 विश्व खिताब जीतने वाली टीम से बिल्कुल अलग एकादश के साथ उतरे भारत ने अभिषेक शर्मा, रियान पराग व ध्रुव जुरेल को पदार्पण का मौका दिया और टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी करने में कोई हिचकिचाहट नहीं दिखाई।

जिम्बाब्वे ने दूसरे ओवर में छह के योग पर पहला विकेट गंवाने के बावजूद अच्छी शुरुआत की और वेसली मधेवेयर (21 रन, 22 गेंद, तीन चौके), ब्रायन बेनेट (22 रन, 15 गेंद, पांच चौके), डिओन मेयर्स (23 रन, 22 गेंद, दो चौके) व सिकंदर रजा (17 रन, 19 गेंद, एक छक्का, एक चौका) की पारियों से एक समय 12वें ओवर में 74 पर तीन विकेट ही गिरे थे।

17 रनों के भीतर जिम्बाब्वे ने गंवाए 6 विकेट

लेकिन आवेश खान ने सिकंदर को लौटाया तो लाइन लग गई और 17 रनों के भीतर सात विकेट गिर गए (9-90)। गनीमत रही कि विकेट कीपर क्लाइव मडांडे (नाबाद 29 रन, 25 गेंद, चार चौके) ने अकेले दम टीम को 115 रनों तक पहुंचाया। रवि के अलावा वाशिंगटन सुंदर ने भी 11 रन देकर दो विकेट लिए।

सर्वोच्च स्कोरर गिल सहित भारत के 6 बल्लेबाज 47 रनों पर लौट चुके थे

जिम्बाब्वे की पारी सस्ते में सिमटने के बाद भारतीय बल्लेबाजी की गहराई देखकर लग रहा था लक्ष्य का पीछा आसान होगा। लेकिन जिम्बाब्वे के गेंदबाजों के पास कुछ और ही योजना थी। अभिषेक शर्मा चार गेंदों पर खाता नहीं खोल सके तो ऋतुराज गायकवाड़ (सात रन, एक चौका) चलते बने। रियान पराग (दो रन) तीन गेंदों पर और रिंकू सिंह (0) दो गेंदों पर आउट हो गए। इस प्रकार पांच ओवरों में 22 रनों के भीतर चार विकेट गंवा बैठा था।

पूरे मैच के सर्वोच्च स्कोरर गिल व ध्रुव जुरेल (छह रन, एक चौका) ने स्थिति संभालने की कोशिश की, लेकिन 10वें ओवर में जुरेल लौटे (5-43) और अगले ओवर में सिकंदर रजा ने गिल को आउट किया तो भारत की हार लगभग तय हो चुकी थी (6-47)।

रविवार को खेला जाएगा दूसरा मुकाबला

वाशिंगटन सुंदर ने आवेश खान के साथ मिलकर अंतिम जोर बांधा। इस क्रम में भारत को अंतिम ओवर में 16 रन चाहिए थे और उसके पास एक विकेट बचा था। हालांकि, चतरा ने 20वें ओवर में चार गेंदों पर सिर्फ दो रन दिए और पांचवीं गेंद पर वाशिंगटन को आउट करने के साथ हरारे को जश्न से सराबोर कर दिया। सीरीज का दूसरा मैच रविवार को भारतीय समयानुसार अपराह्न 4.30 से इसी मैदान पर खेला जाएगा।

LEAVE YOUR COMMENT

Your email address will not be published.

Join our WhatsApp Channel

And stay informed with the latest news and updates.

Join Now
revoi whats app qr code