1. Home
  2. हिंदी
  3. राजनीति
  4. गुजरात : जूनागढ़ में जहरीला पदार्थ मिली शराब पीने से 2 लोगों की मौत, राहुल गांधी ने भाजपा पर साधा निशाना
गुजरात : जूनागढ़ में जहरीला पदार्थ मिली शराब पीने से 2 लोगों की मौत, राहुल गांधी ने भाजपा पर साधा निशाना

गुजरात : जूनागढ़ में जहरीला पदार्थ मिली शराब पीने से 2 लोगों की मौत, राहुल गांधी ने भाजपा पर साधा निशाना

0

जूनागढ़, 29 नवम्बर। गुजरात के जूनागढ़ जिले में जहरीला तरल पदार्थ मिली शराब पीने से दो लोगों की मौत हो गई। पुलिस ने मंगलवार को यह जानकारी दी। हालांकि पुलिस ने यह भी कहा कि जहरीली शराब की वजह से यह घटना नहीं हुई है।

अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक राजकुमार पांडियन ने बताया कि शहर के गांधी चौक क्षेत्र में सोमवार रात साढ़े सात बजे से साढ़े आठ बजे के बीच दो ऑटोरिक्शा चालकों-रफीक धोधरी (45) और भरत पिधड़िया (40) की ‘संदिग्ध तरल पदार्थ’ पीने के तुरंत बाद मौत हो गई।

फिलहाल गुजरात विधानसभा चुनाव के प्रचार के दौरान हुई इस घटना पर कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने भाजपा सरकार पर यह कहते हुए हमला किया कि महात्मा गांधी और सरदार पटेल की भूमि पर ‘नशे’ का खेल चल रहा है।

उन्होंने कहा, ‘शराबबंदी वाले गुजरात में कल फिर ज़हरीली शराब से लोगों की मृत्यु हुई! एक तरफ दिखावे की शराबबंदी, दूसरी ओर जहरीली शराब और ड्रग्स से लोग मर रहे हैं – रोजगार की जगह जहर दे रही है सरकार।’ राहुल गांधी ने हिन्दी में ट्वीट किया, ‘ये है भाजपा का ‘गुजरात मॉडल’! गांधी-सरदार की भूमि को नशे में लिप्त कर दिया है।’

पुलिस का जहरीली शराब से इनकार, फॉरेंसिक जांच में मेथेनॉल नहीं था

वहीं पांडियन ने घटना के बारे में संवाददाताओं से कहा कि दोनों लोगों को जूनागढ़ सिविल अस्पताल ले जाया गया, जहां उन्हें मृत घोषित कर दिया गया। पोस्टमॉर्टम से मृतकों के विसरा में जहरीला पदार्थ होने का पता चला।

उन्होंने कहा, ‘हमने तुरंत पदार्थ को फॉरेंसिक जांच के लिए भेजा। इसमें इथेनॉल और साइनाइड पाया गया। इसमें मेथेनॉल नहीं था, जो जहरीली शराब से मौत का संकेत होता।’ अधिकारी ने कहा कि दोनों ने शराब पीने से पहले उसमें जहरीला पदार्थ मिलाया था। उन्होंने कहा कि यह पता लगाने के लिए जांच की जा रही है कि दोनों को जहरीले तरल पदार्थ की आपूर्ति किसने की थी।

पांडियन ने कहा, ‘हम इस बात की जांच कर रहे हैं कि क्या किसी ने उन्हें तरल पदार्थ पिलाया। हम पिछले तीन दिनों में उनकी (मृतकों) आवाजाही का पता लगाने के लिए सीसीटीवी फुटेज की पड़ताल करेंगे और उनके मोबाइल फोन की कॉल डिटेल को खंगालेंगे।’

LEAVE YOUR COMMENT

Your email address will not be published.