1. Home
  2. अपराध
  3. पीएफआई के इशारे पर शकील मियां ने काटे हिन्दू महिला के हाथ-पैर और स्तन? भाजपा ने की जांच की मांग
पीएफआई के इशारे पर शकील मियां ने काटे हिन्दू महिला के हाथ-पैर और स्तन? भाजपा ने की जांच की मांग

पीएफआई के इशारे पर शकील मियां ने काटे हिन्दू महिला के हाथ-पैर और स्तन? भाजपा ने की जांच की मांग

0

पटना, 6 दिसम्बर। बिहार के भागलपुर में शकील मियां नामक अपराधी ने एक हिन्दू महिला की दिनदहाड़े कुल्हाड़ी से काटकर हत्या कर दी थी। अब यह मामला सियासी तौर पर तूल पकड़ने लगा है। भाजपा का आरोप है कि चूंकि अपराधी मुसलमान है, इसलिए तुष्टिकरण की राजनीति करने वाली महागठबंधन सरकार की पुलिस अपराधियों पर काररवाई करने से बच रही है।

महागठबंधन की सरकार पर तुष्टिकरण की राजनीति का आरोप

दरअसल, भागलपुर में दिनदहाड़े बीच बाजार में अपराधी शकील मियां द्वारा नीलम देवी नामक एक महिला की कुल्हाड़ी से काटकर हत्या किए जाने से पूरे बिहार में सनसनी फैल गई। हालांकि इस मामले में पुलिस ने मुख्य आरोपित शकील मियां को गिरफ्तार कर हत्या में प्रयोग की गई कुल्हाड़ी भी बरामद कर ली है।

पुलिस की गिरफ्त में है मुख्य आरोपित, हत्या में प्रयुक्त कुल्हाड़ी भी बरामद

पुलिस के अनुसार, नीलम देवी नामक मृतका जब बाजार से अपने घर लौट रही थी, तब शकील मियां अपने भाई के साथ वहां पहुंचा और उसने नीलम देवी को धक्का मार कर जमीन पर गिरा दिया। इसके बाद कुल्हाड़ी से महिला के हाथ-पैर काट डाले और कुल्हाड़ी के वार से स्तन को भी काट डाला। सैकड़ों लोगों के सामने इस घटना को अंजाम देने के बाद शकील मियां वहां से भागने में भी कामयाब रहा। हालांकि बाद में भागलपुर पुलिस द्वारा हत्या में शामिल शकील मियां और उसके सहयोगी यानी दोनों आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया।

नीलम समेत कई महिलाओं से छेड़छाड़ करता था शकील मियां

भागलपुर की घटना को पहले दिल्ली में एक मुस्लिम युवक द्वारा श्रद्धा नामक हिन्दू लड़की के 35 टुकड़े किए जाने के मामले की तरह देखा जा रहा था। लेकिन बाद में यह पता चला कि शकील मियां आपराधिक चरित्र का व्यक्ति था और वह कई महिलाओं के साथ छेड़छाड़ किया करता था। मृतका के पति अशोक यादव का कहना है कि शकील मियां जबर्दस्ती उसके घर में घुस जाता था। अशोक यादव के अनुसार, शकील मियां एक गलत आदमी था। इसलिए उसने उसे घर आने के लिए मना कर दिया था।

भाजपा प्रवक्ता निखिल आनंद का कहना है कि शकील मियां आदतन अपराधी है और दिलचस्प बात यह है कि उस पर कोई आपराधिक मामला दर्ज नहीं है। निखिल आनंद ने यह भी कहा कि शकील मियां अपराध करने के साथ महिलाओं के साथ छेड़छाड़ भी किया करता था। लेकिन स्थानीय पुलिस प्रशासन ने हमेशा ऐसे अपराधियों को बचाने की कोशिश की, जो आदतन हिन्दू महिलाओं को परेशान और प्रताड़ित करता था।

हत्या की थ्योरी बदलना चाहती है पुलिस : भाजपा

भाजपा ओबीसी मोर्चा के राष्ट्रीय महामंत्री और प्रदेश प्रवक्ता डॉ. निखिल आनंद ने कहा कि पुलिस हत्या के इस मामले को गुमराह करने के लिए परिकल्पना पेश कर रही है और अपराधियों के प्रति हमदर्दी दिखा रही है। उन्होंने कहा कि ओबीसी यादव समुदाय की महिला नीलम देवी की मुस्लिम युवक द्वारा हत्या किए जाने के मामले में भागलपुर पुलिस प्रशासन लोगों को गुमराह कर रही है। नीतीश सरकार के दबाव में जिले के एसपी एक परिकल्पना पेश कर रही है।

सीएम नीतीश घटना की जिम्मेदारी लें और पीड़ित परिवार को एक करोड़ का मुआवजा दें

निखिल आनंद ने कहा कि पुलिस द्वारा यह बताया जा रहा है कि पीड़ित परिवार द्वारा हत्यारों से पैसे का लेनदेन का मामला था, जो सरासर झूठ और निराधार है। इसकी पुष्टि मृतका नीलम देवी के पति अशोक यादव ने भी कर दी है। भाजपा प्रवक्ता ने कहा कि यह स्पष्ट तौर पर कट्टरपंथी तालिबानी मानसिकता के साथ सांप्रदायिक आधार पर हत्या का मामला है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को इस घटना की नैतिक जिम्मेदारी लेनी चाहिए और पीड़ित परिवार को एक करोड़ का मुआवजा देना चाहिए।

भागलपुर रेंज के डीआईजी विवेकानंद का कथन

वहीं भागलपुर रेंज के डीआईजी विवेकानंद ने मीडिया से कहा कि मामले में आरोपितों की गिरफ्तारी हो चुकी है। इसके अलावा शकील मियां द्वारा हत्या के लिए प्रयुक्त कुल्हाड़ी को भी बरामद कर लिया गया है। आरोपितों से पूछताछ कर मामले की छानबीन की जा रही है। इस मामले में मृतक के परिजनों द्वारा जिन दो लोगों को आरोपित बनाया गया था, पुलिस ने त्वरित काररवाई करते हुए दोनों को गिरफ्तार कर लिया है।

क्या पीएफआई के इशारे पर शकील मियां ने घटना को दिया अंजाम?

इस बीच बिहार विधान परिषद में नेता प्रतिपक्ष सम्राट चौधरी ने भागलपुर में नीलम देवी की हत्या पर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर जमकर हमला बोला है। बिहार सरकार में पूर्व पंचायती राज मंत्री रहे सम्राट चौधरी ने कहा कि प्रतिबंधित पीपुल्स फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआई) से संबंधित आतंकियों की ओर से इन दिनों राज्य के अलग-अलग जिलों में हिन्दू महिलाओं पर हमले किए जा रहे हैं। सम्राट चौधरी ने कहा कि राज्य सरकार की सह पर ही PFI के गुंडे लगातार हिन्दू महिलाओं के खिलाफ साजिश कर रहे हैं। लेकिन राजद के दबाव में नीतीश कुमार हाथ पर हाथ रखकर सो रहे हैं।

सम्राट चौधरी ने कहा कि नीतीश सरकार ये कतई ना समझें कि बीजेपी कार्यकर्ता चुप बैठेंगे। अगर सरकार इन आतंकियों के खिलाफ कड़े नियम बनाकर इनपर काररवाई नहीं करती तो सभी भाजपा कार्यकर्ता इसके खिलाफ विरोध प्रदर्शन करने का काम करेंगे। शकील मियां के पीएफआई कनेक्शन की जांच भी की जानी चाहिए।

LEAVE YOUR COMMENT

Your email address will not be published.