1. Home
  2. हिंदी
  3. खेल
  4. टीम इंडिया ने 4-1 के अंतर से जीती टी20 सीरीज, रोमांचक संघर्ष में ऑस्ट्रेलिया ने 6 रन से गंवाया अंतिम मैच
टीम इंडिया ने 4-1 के अंतर से जीती टी20 सीरीज, रोमांचक संघर्ष में ऑस्ट्रेलिया ने 6 रन से गंवाया अंतिम मैच

टीम इंडिया ने 4-1 के अंतर से जीती टी20 सीरीज, रोमांचक संघर्ष में ऑस्ट्रेलिया ने 6 रन से गंवाया अंतिम मैच

0

बेंगलुरु, 3 दिसम्बर। हालांकि पांच मैचों की टी20 सीरीज का पहले ही भारत के हक में फैसला हो चुका था और रविवार को यहां एम. चिन्नास्वामी स्टेडियम में पांचवें व अंतिम मैच से सिर्फ औपचारिकता पूरी की जानी थी। लेकिन अंतिम ओवर तक खिंचे सीरीज के सबसे कम स्कोर वाले मुकाबले में भी  रोमांचक क्रिकेट देखने को मिली और ज्यादातर युवा सितारों से युक्त सूर्यकुमार यादव की अगुआई वाली टीम इंडिया ने छह रनों की जीत के साथ 4-1 के अंतर से श्रृंखला अपने नाम कर ली।

एक दिनी विश्व कप विजेता ऑस्ट्रेलियाई टीम के भारत दौरे का समापन

इसके साथ ही ऑस्ट्रेलियाई दल के यादगार भारत दौरे का समापन भी हो गया, जिसमें पैट कमिंस की अगुआई वाली टीम ने पिछले माह फाइनल में मेजबानों को गहरा जख्म देते हुए रिकॉर्ड छठी बार आईसीसी एक दिनी क्रिकेट विश्व कप पर अपना नाम लिखाया था।

श्रेयस अय्यर के पचासे से भारत 160 रनों तक पहुंचा

बारिश के लगातार खतरे के बीच बदली युक्त मौसम में पहले बल्लेबाजी पर बाध्य मेजबानों ने श्रेयस अय्यर के जिम्मेदाराना अर्धशतक (53 रन, 37 गेंद, दो छक्के, पांच चौके) की मदद से  आठ विकेट पर 160 रनों का स्कोर खड़ा किया था। जवाब में ऑस्ट्रेलियाई टीम बेंजामिन मैकडरमट के आक्रामक पचासे (54 रन, 36 गेंद, पांच छक्के) के बावजूद आठ विकेट पर 154 रनों तक पहुंच सकी।

अर्शदीप ने अंतिम ओवर में कसी गेंदबाजी से पक्की की भारत की जीत

दरअसल, चिन्नास्वामी स्टेडियम के टर्निंग विकेट पर पहले स्पिनरद्वय रवि बिश्नोई (2-29) व अक्षर पटेल (1-14) ने पहले कंगारुओं को फंसाया और चोटिल दीपक चाहर की जगह अंतिम मैच खेलने उतरे वामहस्त पेसर अर्शदीप सिंह (2-40) ने अंतिम ओवर में ठंडे दिमाग से शानदार गेंदबाजी के सहारे भारत की जीत पर अंतिम मुहर लगा दी, जिसमें मेहमानों को 10 रनों की दरकार थी।

अर्शदीप ने पहली गेंद छोटी फेंकी, जो कप्तान मैथ्यू वेड (22 रन, 15 गेंद, चार चौके) के पास से निकल गई। वेड इस बात से नाराज़ थे कि वह गेंद वाइड नहीं दी गई। दूसरी गेंद पर भी कोई रन नहीं बना और वेड अगली गेंद पर अय्यर को कैच थमा बैठे। बची तीन गेंदों पर सिर्फ तीन रन बन सके।

स्कोर कार्ड

मेहमानों की पारी में 55 पर तीन विकेट गिरने के बाद मैकडरमट व टिम डेविड (17) के बीच 47 रनों की सबसे बड़ी भागीदारी हुई। मैकडरमट के बाद ओपनर ट्रेविस हेड (28 रन,18 गेंद, एक छक्का, पांच चौके) दूसरे सर्वोच्च स्कोरर रहे जबकि भारतीय गेंदबाजों में मुकेश कुमार ने 32 रन देकर सबसे ज्यादा तीन विकेट लिए।

श्रेयस की जितेश व अक्षर संग उपयोगी भागीदारियां

इसके पूर्व भारत की शुरुआत खराब रही थी और 10वें ओवर में 55 रनों पर यशस्वी जायसवाल (21 रन 15 गेंद, दो छक्के, एक चौका), ऋतुराज गायकवाड़ (10), कप्तान सुर्यकुमार (5) व रिंकू सिंह (6) के रूप में चार कड़ियल बल्लेबाज निकल चुके थे। लेकिन श्रेयस अय्यर ने कमान संभाली और जितेश शर्मा (24 रन, 16 गेंद, एक छक्का, तीन चौके) संग 42 रनों की साझेदारी से स्थिति संभाली।

श्रेयस ने अंतिम ओवर में छक्का जड़कर पूरा किया पचासा

फिर श्रेयस व अक्षर पटेल (31 रन, 21 गेंद, एक छक्का, दो चौके) के बीच 46 रनों की भागीदारी से भारत लड़ने लायक स्कोर बनाने में सफल हुआ। श्रेयस ने अंतिम ओवर में आउट होने के पहले नैथन एलिस की गेंद पर छक्का जड़कर अपना आठवां अर्धशतक पूरा किया। अक्षर को उनके हरफनमौला प्रदर्शन के लिए ‘प्लेयर ऑफ द मैच’ घोषित किया गया जबकि सीरीज में नौ विकेट लेने वाले रवि बिश्नोई ‘प्लेयर ऑफ द सीरीज’ घोषित किए गए।

LEAVE YOUR COMMENT

Your email address will not be published.