1. Home
  2. हिंदी
  3. खेल
  4. प्रज्ञानानंद की बहन वैशाली भी बनीं ग्रैंडमास्टर, दुनिया में भाई-बहन की पहली ग्रैंडमास्टर जोड़ी  
प्रज्ञानानंद की बहन वैशाली भी बनीं ग्रैंडमास्टर, दुनिया में भाई-बहन की पहली ग्रैंडमास्टर जोड़ी   

प्रज्ञानानंद की बहन वैशाली भी बनीं ग्रैंडमास्टर, दुनिया में भाई-बहन की पहली ग्रैंडमास्टर जोड़ी  

0

चेन्नै, 2 दिसम्बर। फिडे विश्व कप शतरंज उपजेता रमेशबाबू प्रज्ञानानंद की बड़ी बहन आर. वैशाली ने स्पेन में जी एल लोब्रेगाट ओपन टूर्नामेंट के दौरान ग्रैंडमास्टर खिताब हासिल कर लिया और यह उपलब्धि अर्जित करने वालीं वह देश की तीसरी महिला खिलाड़ी बन गईं। इसके साथ ही प्रज्ञानानंद और वैशाली के रूप में दुनिया की पहली भाई-बहन की ग्रैंडमास्टर जोड़ी बन गई।

वैशाली ने यह उपलब्धि शुक्रवार को 2500 ईएलओ रेटिंग अंक पार करने के बाद हासिल की। वह देश की 84वीं ग्रैंडमास्टर (जीएम) हैं। कोनेरू हम्पी और डी. हरिका भारत की दो अन्य महिला ग्रैंडमास्टर खिलाड़ी हैं। प्रज्ञानानंद ने 2018 में जीएम खिताब हासिल किया था, जब वह महज 12 वर्ष के थे। वहीं हम्पी जीएम खिताब हासिल करने वाली दुनिया की सबसे युवा महिला खिलाड़ी हैं। वह 15 वर्ष की उम्र में 2002 में जीएम बनी थीं।

चेन्नै की 22 वर्षीया खिलाड़ी वैशाली ने स्पेन में 2500 ईएलओ रेटिंग अंक का आंकड़ा पार किया, जिसमें उन्होंने दूसरे दौर में तुर्की की तैमर तारिक सेल्बेस को पराजित किया। वैशाली ने अक्टूबर में कतर मास्टर्स टूर्नामेंट में तीसरा जीएम नॉर्म हासिल किया था और उन्हें अपनी ईएलओ रेटिंग बढ़ाने की जरूरत थी।

भाई-बहन की जोड़ी को कैंडिडेट्स टूर्नामेंट का भी टिकट

इसके साथ ही प्रज्ञानानंद और वैशाली विश्व चैम्पियनशिप मैच के लिए क्वालीफाइंग टूर्नामेंट कैंडिडेट्स में जगह बनाने वाली पहली भाई-बहन की जोड़ी भी बन गए। कैंडिडेट्स टूर्नामेंट अप्रैल में टोरंटो में खेला जाएगा। वैशाली के पिता रमेशबाबू खुद एक शतरंज खिलाड़ी हैं, जिन्होंने ही अपने बच्चों को इस खेल में आने के लिए प्रोत्साहित किया।

आनंद ने वैशाली को दी बधाई

इस बीच भारतीय शतरंज के महानतम खिलाड़ी विश्वनाथन आनंद ने सोशल नेटवर्किंग मंच ‘एक्स’ पर वैशाली को बधाई देते हुए कहा, ‘पिछले कुछ महीनों में उसने काफी मेहनत की है और यह अच्छा संकेत है क्योंकि वह कैंडिडेट्स टूर्नामेंट के लिए तैयारी कर रही है। उनके माता-पिता को बधाई।’

LEAVE YOUR COMMENT

Your email address will not be published.