1. Home
  2. हिंदी
  3. राष्ट्रीय
  4. गंभीर चक्रवाती तूफान में तब्दील हुआ ‘मिचौंग’, चेन्नै में पांच लोगों की मौत, आंध्र प्रदेश की ओर तेजी से बढ़ रहा
गंभीर चक्रवाती तूफान में तब्दील हुआ ‘मिचौंग’, चेन्नै में पांच लोगों की मौत, आंध्र प्रदेश की ओर तेजी से बढ़ रहा

गंभीर चक्रवाती तूफान में तब्दील हुआ ‘मिचौंग’, चेन्नै में पांच लोगों की मौत, आंध्र प्रदेश की ओर तेजी से बढ़ रहा

0

चेन्नै/ नई दिल्ली, 4 दिसम्बर। दक्षिण बंगाल की खाड़ी के ऊपर उभरा सक्रिय चक्रवाती तूफान ‘मिचौंग’ सोमवार को गंभीर चक्रवाती तूफान में तब्दील हो गया, जिसके चलते आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु और पुडुचेरी में भारी बारिश हो रही है। चेन्नै में अलग-अलग घटनाओं में पांच लोगों की मौत हो गई है।

भारत मौसम विभाग के मुताबिक गंभीर चक्रवाती तूफान के धीरे-धीरे तेज होने और दक्षिण आंध्र प्रदेश तट के करीब बढ़ने तथा नेल्लोर और मछलीपट्टनम के बीच, बापटला के करीब से गुजरने की संभावना है।

भारत मौसम विभाग ने ‘एक्स’ पर एक पोस्ट में कहा, ‘गंभीर चक्रवाती तूफान ‘मिचौंग’ आज भारतीय समयानुसार ढाई बजे दक्षिण बंगाल की खाड़ी के ऊपर चेन्नई से करीब 100 किलोमीटर उत्तर पूर्व और नेल्लोर से 120 किलोमीटर दक्षिण पूर्व में केंद्रित था। यह धीरे-धीरे तेज होगा और उत्तर की ओर बढ़ेगा और गंभीर चक्रवाती तूफान के रूप में पांच दिसम्बर की दोपहर बापटला के करीब नेल्लोर और मछलीपट्टनम के बीच दक्षिण आंध्र प्रदेश तट को पार करेगा।’

2015 में आई बाढ़ की पुनरावृत्ति की आशंका

गंभीर चक्रवाती तूफान ‘मिचौंग’ के चलते आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु और पुडुचेरी में भारी बारिश हो रही है। चेन्नै और पडोसी जिलों में भारी बारिश के चलते बाढ़ जैसे हालात बन गए हैं। लगातार बारिश की वजह से यहां 2015 में आई बाढ़ की पुनरावृत्ति की आशंका उत्पन्न हो गई है।

चेन्नै में बिजली गुल, इंटरनेट सेवा ठप

चेन्नै में लोग आवश्यक वस्तुओं विशेषकर पेयजल की खरीद के लिए भागदौड़ करते देखे गए। लगातार बारिश से कोई राहत नहीं मिली है, इसके कारण बिजली गुल हो गई और इंटरनेट सेवा ठप हो गई। चेन्नै में बारिश के कारण परिवहन सेवा बुरी तरह बाधित हुई है और कई ट्रेनें तथा उड़ानों को रद कर दिया गया है। सड़कों के जलमग्न होने के कारण आने-जाने वालों को काफी कठिनाइयों का सामना करना पड़ा।

तमिलनाडु की राजधानी चेन्नै के कई हिस्से और आसपास के कांचीपुरम, चेंगलपट्टू और तिरुवल्लूर जिले जलमग्न हो गए हैं, जबकि सरकारी मशीनरी को रुके हुए पानी को हटाने के लिए तैनात किया गया है। सोमवार सुबह 8.30 बजे तक पिछले 24 घंटों में, चेन्नई के पेरुंगुडी में 29 सेमी बारिश हुई, जबकि तिरुवल्लूर जिले के आवडी में 28 सेमी और चेंगलपेट के मामल्लापुरम में 22 सेमी बारिश दर्ज की गई।

चेन्नै एयरपोर्ट से संबंधित 70 उड़ानें रद

चेन्नै एयरपोर्ट का संचालन सुबह 9.40 बजे से रात 11 बजे तक निलंबित कर दिया गया है। लगातार बारिश के कारण एयरपोर्ट पर आने और जाने वाली लगभग 70 उड़ानें रद कर दी गईं। जलभराव के कारण रनवे और टारमैक भी बंद हैं। इस बीच, बारिश की वजह से रेल और हवाई सेवाओं को या तो रद कर दिया गया अथवा उनके परिचालन में देरी हुई।

तमिलनाडु कई जिलों में मंगलवार को कार्यालय और स्कूल रहेंगे बंद

चक्रवात के मद्देनजर तमिलनाडु सरकार ने चेन्नै, तिरुवल्लुर, कांचीपुरम और चेंगलपट्टू जिलों में सभी शैक्षणिक संस्थानों, सरकारी और निजी कार्यालयों, वित्तीय संस्थानों और बैंकों के लिए मंगलवार को सार्वजनिक अवकाश की घोषणा की है। सरकार ने निजी कम्पनियों से आग्रह किया है कि वे अपने कर्मचारियों को पांच दिसम्बर को प्रभावित क्षेत्रों में घर से काम करने की अनुमति दें। हालांकि, सभी आवश्यक सेवाएं, जैसे पुलिस, दमकल सेवा, स्थानीय निकाय, दूध आपूर्ति, जल आपूर्ति, अस्पताल/चिकित्सा दुकानें, बिजली आपूर्ति, परिवहन, ईंधन आउटलेट, होटल/रेस्तरां, और आपदा प्रतिक्रिया, राहत और बचाव गतिविधियों से संबंधित कार्यालय सामान्य रूप से कामकाज करेंगे।

अमित शाह ने लिया जायजा

इस बीच केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने चक्रवात ‘मिचौंग’ के कारण उत्पन्न स्थिति पर तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश और पुडुचेरी के मुख्यमंत्रियों से बात की और उन्हें सभी आवश्यक केंद्रीय मदद का आश्वासन दिया। शाह ने ‘एक्स’ पर एक पोस्ट में कहा, “तमिलनाडु के मुख्यमंत्री एम के स्टालिन और आंध्र प्रदेश और पुडुचेरी में उनके समकक्षों – क्रमशः वाईएस जगन मोहन रेड्डी और एन. रंगास्वामी से बात की। चक्रवात ‘मिचौंग’ के कारण उत्पन्न चुनौतीपूर्ण मौसम की स्थिति से निपटने के लिए किए गए उपायों का जायजा लिया। उन्हें जीवन सुरक्षित करने के लिए मोदी सरकार की ओर से सभी आवश्यक सहायता का आश्वासन दिया।”

उन्होंने कहा, ‘NDRF की पर्याप्त तैनाती पहले ही की जा चुकी है और अतिरिक्त टीम आगे की सहायता के लिए तैयार है।’ गृह मंत्री ने आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री के साथ भी चक्रवात के संबंध में तैयारियों के बारे में चर्चा की। उन्होंने कहा, ‘नागरिकों की जान बचाना हमारी प्राथमिकता रही है। केंद्र सरकार आंध्र प्रदेश को सभी आवश्यक सहायता प्रदान करने के लिए तैयार है। NDRF पहले से ही तैनात है तथा आवश्यकतानुसार और टीम को तैयार रखा गया है।’

LEAVE YOUR COMMENT

Your email address will not be published.