1. Home
  2. हिंदी
  3. चुनाव
  4. एग्जिट पोल : भाजपा गुजरात में फिर बनाएगी सरकार, हिमाचल में भाजपा-कांग्रेस का पलड़ा बराबरी पर
एग्जिट पोल : भाजपा गुजरात में फिर बनाएगी सरकार, हिमाचल में भाजपा-कांग्रेस का पलड़ा बराबरी पर

एग्जिट पोल : भाजपा गुजरात में फिर बनाएगी सरकार, हिमाचल में भाजपा-कांग्रेस का पलड़ा बराबरी पर

0

नई दिल्ली, 5 दिसम्बर। गुजरात विधानसभा चुनाव में सोमवार को दूसरे व अंतिम चरण की वोटिंग की समाप्ति के बाद गुजरात और हिमाचल प्रदेश के चुनावी सर्वे आ चुके हैं। ज्यादातर सर्वे के रुझान स्पष्ट इशारा कर रहे हैं कि बीते 27 वर्षों से गुजरात में काबिज भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की सेहत पर कोई फर्क नहीं पड़ने वाला है। वहीं हिमाचल प्रदेश में जरूर भाजपा को कांग्रेस से कड़ी चुनौती मिलती दिखाई दे रही है और टक्कर लगभग-लगभग बराबरी का नजर आ रहा है।

उधर दिल्ली नगर निगम (एमसीडी) चुनाव के एग्जिट पोल बता रहे हैं कि सत्ताधारी आम आदमी पार्टी एमसीडी से भाजपा को खदेड़ते हुए वहां भी अपना कब्जा कर सकती है। लेकिन ये सारे सर्वे महज एक छोटे सैंपल के जरिये किये गए हैं। इस कारण इसे कयासभर माना जाए तो ही सही है क्योंकि कई बार ऐसा हुआ है कि चुनाव परिणाम सर्वे के एकदम उलट भी आ जाते हैं।

गुजरात की 182 सीटों भाजपा को 129 से 151 सीटें मिलने का अनुमान

अब तक जितने भी एग्जिट पोल सर्वे जारी हुए हैं, उनसे पता चल रहा है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह के गृह प्रदेश में जनता लगातार सातवीं बार भाजपा को सत्ता की गद्दी पर बैठा सकती है। एग्जिट पोल के अनुसार भाजपा को गुजरात की कुल 182 सीटों में 129 से 151 सीटें तक मिलने का अनुमान है।

2002 का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन दोहराती नजर आ रही भाजपा

आगामी आठ दिसम्बर को आने वाले चुनाव परिणाम अगर इन चुनावी रुझानों के करीब रहते हैं तो वर्ष 2002 के बाद इसे भाजपा का सबसे बेहतरीन प्रदर्शन माना जाएगा। 2002 के गुजरात दंगे के बाद भाजपा ने भारी बहुमत से जीत हासिल की थी और उसके बाद साल 2022 में वह अपने उस प्रदर्शन को दोहराने के करीब नजर आ रही है।

कांग्रेस 43 सीटों पर सिमटती नजर आ रही, आप को भी 10 सीटों का अनुमान

वहीं मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस की बात करें तो उसने वर्ष 2017 में जिस भाजपा को 99 सीटों पर समेट दिया था, इस चुनावी सर्वे में काफी लचर प्रदर्शन करती हुई दिखाई दे रही है। 2017 के चुनाव में 77 सीटें हासिल करने वाली कांग्रेस इस बार महज 43 सीटों पर सिमटती हुई दिखाई दे रही है। दरअसल इसका मुख्य कारण आम आदमी पार्टी की सेंधमारी को जाता है, जो पहली बार गुजरात विधानसभा चुनाव में उतरी है और उसे कुल 10 सीटें मिलती हुई नजर आ रही है।

लेकिन अगर ‘आप’ की 10 सीटों को भी कांग्रेस की 43 सीटों में जोड़ दें तब भी यह आंकड़ा 53 पहुंचता है, जो साल 2017 के 77 सीटों के मुकाबले 24 सीटों का घाटा लगने का अनुमान है। इस नाते कहा जा सकता है कि कांग्रेस के लिए गुजरात चुनाव 2022 निराशा भरा हो सकता है।

हिमाचल प्रदेश में भाजपा से सत्ता छीन सकती है कांग्रेस

उधर हिमाचल प्रदेश के चुनाव की बात करें तो वहां भी सत्ता पर काबिज भाजपा के लिए गुजरात की तरह आसानी से जीत मिलने का अनुमान नहीं है या यह कहें कि हिमाचल प्रदेश के सर्वे कांग्रेस के लिए थोड़ा राहत देने वाले हो सकते हैं क्योंकि एक्सिस माइ इंडिया-आज तक के सर्वे के मुताबिक हिमाचल प्रदेश में 44 प्रतिशत वोट पाकर कांग्रेस सबसे आगे दिख रही है जबकि भाजपा 42 प्रतिशत वोट पाकर सरकार से बाहर निकलती दिख रही है। वहीं ‘आप’ को सिर्फ दो प्रतिशत वोट मिलते दिख रहे हैं और अन्य के खाते में 12 प्रतिशत वोट जा रहे हैं।

68 सीटों में कांग्रेस को 30 से 40 सीटें मिलने का अनुमान

इस लिहाज से कहा जा सकता है कि हिमाचल प्रदेश में भाजपा को कांग्रेस से कड़ी टक्कर मिल रही है और उसे लगातार दूसरी बार जीत दर्ज करने में भारी परेशानी का सामना करना पड़ सकता है या उसके हाथ से सत्ता छिन भी सकती है। हिमाचल एग्जिट पोल में भाजपा को 68 में 29 से 34 सीटें मिलने का अनुमान लगाया जा रहा है वहीं कांग्रेस की झोली में 30 से 40 सीटें जाती हुई दिखाई दे रही हैं। यदि सर्वे सही साबित हुए तो हिमाचल में प्रत्येक पांच वर्ष बाद सत्ता बदलने का ट्रेंड इस बार भी जारी रहेगा।

LEAVE YOUR COMMENT

Your email address will not be published.