1. Home
  2. हिंदी
  3. राजनीति
  4. बिलकिस बानो केस में दोषियों की रिहाई पर कांग्रेस बिफरी, पीएम मोदी से पूछा – लाल किले से ‘नारी शक्ति’ पर दिए भाषण का क्या हुआ?
बिलकिस बानो केस में दोषियों की रिहाई पर कांग्रेस बिफरी, पीएम मोदी से पूछा – लाल किले से ‘नारी शक्ति’ पर दिए भाषण का क्या हुआ?

बिलकिस बानो केस में दोषियों की रिहाई पर कांग्रेस बिफरी, पीएम मोदी से पूछा – लाल किले से ‘नारी शक्ति’ पर दिए भाषण का क्या हुआ?

0

नई दिल्ली, 16 अगस्त। कांग्रेस ने गुजरात सरकार द्वारा वर्ष 2002 के गोधरा दंगे के दौरान बिलकिस बानो से गैंगरेप और परिवार के सदस्यों की हत्या करने वाले 11 दोषियों को जेल से रिहा किए जाने पर नाराजगी जाहिर की है और सीधे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमला बोला है। पार्टी ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने कल (15 अगस्त) ही लाल किला के प्राचीर से भाषण देते हुए ‘नारी शक्ति’ की बात की और उसके महज कुछ घंटों के भीतर गुजरात में सत्तारूढ़ भाजपा सरकार ने जघन्य वारदात के दोषियों को रिहा कर दिया।

कांग्रेस ने कहा कि बिलकिस मामले में दोषियों की रिहाई उजागर कर रही है कि भाजपा ‘नारी शक्ति’ के विषय में किस मानसिकता के साथ काम करती है। कांग्रेस प्रवक्ता पवन खेड़ा ने इस बाबत आहूत प्रेस कॉन्फ्रेंस में मोदी सरकार से पूछा कि जब गुनहगारों की रिहाई हो रही हो तो ऐसे में प्रधानमंत्री के बयानों का क्या मतलब है। मोदी जी को आज देश को बताना चाहिए कि क्या वह खुद अपनी उन बातों पर भरोसा करते हैं, जिसमें वह महिलाओं की सुरक्षा, सम्मान और सशक्तिकरण की बात करते हैं।

दोषियों की रिहाई से भाजपा सरकार की मानसिकता जनता के सामने उजागर

पवन खेड़ा ने कहा, ‘गुजरात में भाजपा सरकार ने बिलकिस बानो गैंगरेप मामले में 11 दोषियों को रिहा करके अपनी मानसिकता को जनता के सामने लाने का काम किया है।’ बिलकिस केस के साथ कठुआ और उन्नाव रेप केस का जिक्र करते हुए खेड़ा ने कहा कि ऐसे मामलों में भाजपा की राजनीति शर्मसार करने वाली है, जब उनकी पार्टी के पदाधिकारी बलात्कारियों के पक्ष में सड़कों पर रैली निकालते हुए देखे जाते हैं।

बलात्कार के दोषी सम्मानित किए जा रहे, क्या यही है आजादी का अमृत महोत्सव?’

खेड़ा ने कहा, ‘स्वतंत्रता दिवस के मौके पर कल ही प्रधानमंत्री मोदी ने लाल किले की प्राचीर से महिला सुरक्षा, महिला शक्ति, महिला सम्मान के बारे में कई प्रशंसनीय बातें कही। लेकिन उसके महज कुछ ही घंटों के बाद गुजरात सरकार ने गैंग रेप के दोषियों को रिहा कर दिया। इतना ही नहीं हमने तो यह भी देखा कि बलात्कार के दोषियों को सम्मानित किया जा रहा है। क्या यही आजादी का अमृत महोत्सव है।’

कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा, ‘कांग्रेस देश के प्रधानमंत्री को यह बताने के लिए कहती है कि क्या उन्होंने लाल किला की प्राचीर से महिलाओं के लिए जो बातें कही थीं, उन बातों पर वह खुद भी भरोसा करते हैं।’

गुजरात सरकार ने अपनी छूट नीति के तहत दोषियों को रिहा किया

गौरतलब है कि बिलकिस बानो मामले में 11 दोषियों को गुजरात सरकार ने अपनी छूट नीति के तहत गोधरा उप-जेल से सोमवार को रिहा कर दिया। इन सभी दोषियों को मुंबई में विशेष सीबीआई कोर्ट ने 21 जनवरी, 2008 को भारतीय दंड संहिता की धाराओं के तहत गर्भवती बिलकिस बानो के साथ गैंग रेप, परिवार के सदस्यों की हत्या सहित अन्य मामलों में दोषी ठहराते हुए आजीवन कारावास की सजा सुनाई थी। बाद में यह मामला हाईकोर्ट भी गया था, जहां दोषियों के कोई राहत नहीं मिली थी।

LEAVE YOUR COMMENT

Your email address will not be published.